Home » All Hymns » जब तू तेरा मन मुझे अर्पण कर पाएगा, तब तू तनाव मुक्त हो जाएगा
  1. Home
  2. All Hymns
  3. जब तू तेरा मन मुझे अर्पण कर पाएगा, तब तू तनाव मुक्त हो जाएगा
Hymn No. 2724 | Date: 20-Sep-19981998-09-20जब तू तेरा मन मुझे अर्पण कर पाएगा, तब तू तनाव मुक्त हो जाएगाhttps://www.mydivinelove.org/bhajan/?title=jaba-tu-tera-mana-muje-arpana-kara-paega-taba-tu-tanava-mukta-ho-jaegaजब तू तेरा मन मुझे अर्पण कर पाएगा, तब तू तनाव मुक्त हो जाएगा,
ऐ बंदे भूलकर सारी चंचलता, जब तू मुझमें स्थिर हो जाएगा, तब तू शांत हो जाएगा ।
कह रहा हूँ जो मैं तुझे, वह तू कर पाएगा, तो तेरा जीवन सँवर जाएगा,
छोड़कर दुःख-दर्द भरे नगमें, मेरे भजन में जब मन लगाएगा, तब तू मुक्ति पाएगा ।
सारी चिंता को जब तू मुझे सौंप पाएगा, तब तू झूमने लग जाएगा,
चैन-बेचैनी तो खेल है जीवन का, पीछा इसे छूडा ना पाएगा ।
पर तेरी साँसों में मेरा स्मरण बस जाएगा, आनंद तब तू पाएगा,
कह रहा हूँ मैं जो बातें तुझसे वह करके देख के अनुभव तुझे मिल जाएगा,
नही जानता जिस हकीकत को तू , के उस हकीकत को तू जान जाएगा ।
Text Size
जब तू तेरा मन मुझे अर्पण कर पाएगा, तब तू तनाव मुक्त हो जाएगा
जब तू तेरा मन मुझे अर्पण कर पाएगा, तब तू तनाव मुक्त हो जाएगा,
ऐ बंदे भूलकर सारी चंचलता, जब तू मुझमें स्थिर हो जाएगा, तब तू शांत हो जाएगा ।
कह रहा हूँ जो मैं तुझे, वह तू कर पाएगा, तो तेरा जीवन सँवर जाएगा,
छोड़कर दुःख-दर्द भरे नगमें, मेरे भजन में जब मन लगाएगा, तब तू मुक्ति पाएगा ।
सारी चिंता को जब तू मुझे सौंप पाएगा, तब तू झूमने लग जाएगा,
चैन-बेचैनी तो खेल है जीवन का, पीछा इसे छूडा ना पाएगा ।
पर तेरी साँसों में मेरा स्मरण बस जाएगा, आनंद तब तू पाएगा,
कह रहा हूँ मैं जो बातें तुझसे वह करके देख के अनुभव तुझे मिल जाएगा,
नही जानता जिस हकीकत को तू , के उस हकीकत को तू जान जाएगा ।