Home » Quotes » पत्थर समझकर मूरत को
  1. Home
  2. Quotes
  3. पत्थर समझकर मूरत को

पत्थर समझकर मूरत को,
लोग मंदिर में जाते है ।
पत्थर के पास जो अपेक्षा रखते हैं,
वे इन्सान को कैसे बख्शेंगे भला?

Considering the idol as a stone,
People go to the temple.
Those who have expectations from a stone,
How will they spare the man?


- संत श्री अल्पा माँ


Share
पत्थर समझकर मूरत को,
लोग मंदिर में जाते है ।
पत्थर के पास जो अपेक्षा रखते हैं,
वे इन्सान को कैसे बख्शेंगे भला?
पत्थर समझकर मूरत को https://www.mydivinelove.org/quotes/detail.aspx?title=patthara-samajakara-murata-ko