Home » All Hymns » चाहते हैं तुझे पाने को, ये सही बात है या नहीं
  1. Home
  2. All Hymns
  3. चाहते हैं तुझे पाने को, ये सही बात है या नहीं
Hymn No. 4897 | Date: 18-Mar-20212021-03-18चाहते हैं तुझे पाने को, ये सही बात है या नहींhttps://www.mydivinelove.org/bhajan/?title=chahate-haim-tuje-pane-ko-ye-sahi-bata-hai-ya-nahimचाहते हैं तुझे पाने को, ये सही बात है या नहीं,
दिल चाहता है तेरे रंग में रंग जाए, तेरा रंग तो हम अभ तक पहचान पाए नहीं।
दिल में सफाई रहे हर वक्त, कुछ और चाहत है ही नहीं,
तुम रहे हर वक्त दिल में, किसी और की ख्वाहिश ही नहीं।
चाहे हो जीवन के पल, तुझे देने हो इतने देना कोई ख्वाहिश ही बची नहीं,
जिए हर पल तुझे याद करके, किसी और को याद करने की कोई तमन्ना ही नहीं।
फिर भी चाहते हैं बीते पल साथ तेरे जितने उसमें कोई फरियाद न हो,
तू हम में, हम तुझमें खो जाए इस तरह के वक्त की गुंजाइश बचे नहीं।
डराना चाहता है जितना तू हमें, डरा लेना उतना, हम डरने वालों में से नहीं,
मिले है आशिक हम जैसे तुझे, ये कोई मजाक वाली बात नहीं।
दिल दिया है, दिल भी लेंगे, जान के सौदे में जान,
हिम्मत उसकी गायी जाती नहीं।
Text Size
चाहते हैं तुझे पाने को, ये सही बात है या नहीं
चाहते हैं तुझे पाने को, ये सही बात है या नहीं,
दिल चाहता है तेरे रंग में रंग जाए, तेरा रंग तो हम अभ तक पहचान पाए नहीं।
दिल में सफाई रहे हर वक्त, कुछ और चाहत है ही नहीं,
तुम रहे हर वक्त दिल में, किसी और की ख्वाहिश ही नहीं।
चाहे हो जीवन के पल, तुझे देने हो इतने देना कोई ख्वाहिश ही बची नहीं,
जिए हर पल तुझे याद करके, किसी और को याद करने की कोई तमन्ना ही नहीं।
फिर भी चाहते हैं बीते पल साथ तेरे जितने उसमें कोई फरियाद न हो,
तू हम में, हम तुझमें खो जाए इस तरह के वक्त की गुंजाइश बचे नहीं।
डराना चाहता है जितना तू हमें, डरा लेना उतना, हम डरने वालों में से नहीं,
मिले है आशिक हम जैसे तुझे, ये कोई मजाक वाली बात नहीं।
दिल दिया है, दिल भी लेंगे, जान के सौदे में जान,
हिम्मत उसकी गायी जाती नहीं।