MY DIVINE LOVE - Sant Sri Alpa Ma Bhajans
MY DIVINE LOVE - Sant Sri Alpa Ma Bhajans
View Hymn (Bhajan)

Hymn No. 4391 | Date: 22-Mar-20032003-03-22हमें शक्ति दे हे माता, हर ‘ना’ को ‘हा’ में हम बदल सकेंhttps://www.mydivinelove.org/bhajan/default.aspx?title=hamem-shakti-de-he-mata-hara-na-ko-ha-mem-hama-badala-sakemहमें शक्ति दे हे माता, हर ‘ना’ को ‘हा’ में हम बदल सकें,

करना है अगर तुझे ये काम, तो तू कर, पर मंज़िल को हासिल अब कर सकें।

बढ़ना आगे बड़ी शान से, बड़े ठाठ से कि हम चाहें जहाँ वहाँ जा सकें,

कोई मजबुरी से मजबूर होकर नहीं, तेरा साथ खोकर नहीं, तू चाहे उस तरह आगे बढ़ते चले,

भले आये राह में मुसीबतें पर डट के उनको हराकर हम आगे बढ़ते रहें ।

हे सामर्थ्यशाली माता, हमें शक्ति देना, कहीं टूटे नहीं, कही बिखरे नहीं,

निकल पड़े है जंग में तो अब और ज्यादा हम कुछ सोचें नहीं ।

अपनेआप को करके तेरे हवाले कर्म हम करते चलें,

निर्विघ्न सफलता चाहें, पानी है मंज़िल कि मंज़िल पाये बिना रहना नहीं,

तोड़ के सारे बंधनों को, मोड़ के सारी रूकावटों को, मंजिलो को पाये बिना रहना नहीं ।

हमें शक्ति दे हे माता, हर ‘ना’ को ‘हा’ में हम बदल सकें
View Original
Increase Font Decrease Font
 
हमें शक्ति दे हे माता, हर ‘ना’ को ‘हा’ में हम बदल सकें,

करना है अगर तुझे ये काम, तो तू कर, पर मंज़िल को हासिल अब कर सकें।

बढ़ना आगे बड़ी शान से, बड़े ठाठ से कि हम चाहें जहाँ वहाँ जा सकें,

कोई मजबुरी से मजबूर होकर नहीं, तेरा साथ खोकर नहीं, तू चाहे उस तरह आगे बढ़ते चले,

भले आये राह में मुसीबतें पर डट के उनको हराकर हम आगे बढ़ते रहें ।

हे सामर्थ्यशाली माता, हमें शक्ति देना, कहीं टूटे नहीं, कही बिखरे नहीं,

निकल पड़े है जंग में तो अब और ज्यादा हम कुछ सोचें नहीं ।

अपनेआप को करके तेरे हवाले कर्म हम करते चलें,

निर्विघ्न सफलता चाहें, पानी है मंज़िल कि मंज़िल पाये बिना रहना नहीं,

तोड़ के सारे बंधनों को, मोड़ के सारी रूकावटों को, मंजिलो को पाये बिना रहना नहीं ।



- संत श्री अल्पा माँ
Lyrics in English


hamēṁ śakti dē hē mātā, hara ‘nā' kō ‘hā' mēṁ hama badala sakēṁ,

karanā hai agara tujhē yē kāma, tō tū kara, para maṁja़ila kō hāsila aba kara sakēṁ।

baḍha़nā āgē baḍa़ī śāna sē, baḍa़ē ṭhāṭha sē ki hama cāhēṁ jahām̐ vahām̐ jā sakēṁ,

kōī majaburī sē majabūra hōkara nahīṁ, tērā sātha khōkara nahīṁ, tū cāhē usa taraha āgē baḍha़tē calē,

bhalē āyē rāha mēṁ musībatēṁ para ḍaṭa kē unakō harākara hama āgē baḍha़tē rahēṁ ।

hē sāmarthyaśālī mātā, hamēṁ śakti dēnā, kahīṁ ṭūṭē nahīṁ, kahī bikharē nahīṁ,

nikala paḍa़ē hai jaṁga mēṁ tō aba aura jyādā hama kucha sōcēṁ nahīṁ ।

apanēāpa kō karakē tērē havālē karma hama karatē calēṁ,

nirvighna saphalatā cāhēṁ, pānī hai maṁja़ila ki maṁja़ila pāyē binā rahanā nahīṁ,

tōḍa़ kē sārē baṁdhanōṁ kō, mōḍa़ kē sārī rūkāvaṭōṁ kō, maṁjilō kō pāyē binā rahanā nahīṁ ।