Home » All Hymns » मानूँ कैसे शुक्रिया आपका, ये समझ में नही आता है|
  1. Home
  2. All Hymns
  3. मानूँ कैसे शुक्रिया आपका, ये समझ में नही आता है|
Hymn No. 1883 | Date: 25-Nov-19961996-11-25मानूँ कैसे शुक्रिया आपका, ये समझ में नही आता है|https://www.mydivinelove.org/bhajan/default.aspx?title=manum-kaise-shukriya-apaka-ye-samaja-mem-nahi-ata-haiमानूँ कैसे शुक्रिया आपका, ये समझ में नही आता है|
मिटा दु मैं अपनेआप को आपके लिए, फिर भी ये कम लगता है|
तेरे उपकार कि ए खुदा, गिनती मैं तो कर नही पाता हूँ|
सोचता हूँ जब मैं, ये तो फिर तेरे बगैर रहे नही पाता हूँ|
पाया है तेरा प्यार तो अपनेआप को खुशकिस्मत कहता हूँ|
भरे दुपहर में भी, मैं तो चाँदनी कि ठंडक-सी पाता हूँ|
बदला है तुने मेरे अंदाजे खयाल को कि मैं अब तुझे देख पाता हूँ|
देख कर तेरा प्यारा-सा भोला व्यवहार, मैं तो फिदा हो जाता हूँ।
किया है तुने मुझे स्वीकार कि अब कुछ और ना चाहता हूँ|
समा ले तू मुझे अपने में कि तेरा एक ये उपकार चाहता हूँ|
Text Size
मानूँ कैसे शुक्रिया आपका, ये समझ में नही आता है|
मानूँ कैसे शुक्रिया आपका, ये समझ में नही आता है|
मिटा दु मैं अपनेआप को आपके लिए, फिर भी ये कम लगता है|
तेरे उपकार कि ए खुदा, गिनती मैं तो कर नही पाता हूँ|
सोचता हूँ जब मैं, ये तो फिर तेरे बगैर रहे नही पाता हूँ|
पाया है तेरा प्यार तो अपनेआप को खुशकिस्मत कहता हूँ|
भरे दुपहर में भी, मैं तो चाँदनी कि ठंडक-सी पाता हूँ|
बदला है तुने मेरे अंदाजे खयाल को कि मैं अब तुझे देख पाता हूँ|
देख कर तेरा प्यारा-सा भोला व्यवहार, मैं तो फिदा हो जाता हूँ।
किया है तुने मुझे स्वीकार कि अब कुछ और ना चाहता हूँ|
समा ले तू मुझे अपने में कि तेरा एक ये उपकार चाहता हूँ|

Lyrics in English
mānūm̐ kaisē śukriyā āpakā, yē samajha mēṁ nahī ātā hai|
miṭā du maiṁ apanēāpa kō āpakē liē, phira bhī yē kama lagatā hai|
tērē upakāra ki ē khudā, ginatī maiṁ tō kara nahī pātā hūm̐|
sōcatā hūm̐ jaba maiṁ, yē tō phira tērē bagaira rahē nahī pātā hūm̐|
pāyā hai tērā pyāra tō apanēāpa kō khuśakismata kahatā hūm̐|
bharē dupahara mēṁ bhī, maiṁ tō cām̐danī ki ṭhaṁḍaka-sī pātā hūm̐|
badalā hai tunē mērē aṁdājē khayāla kō ki maiṁ aba tujhē dēkha pātā hūm̐|
dēkha kara tērā pyārā-sā bhōlā vyavahāra, maiṁ tō phidā hō jātā hūm̐।
kiyā hai tunē mujhē svīkāra ki aba kucha aura nā cāhatā hūm̐|
samā lē tū mujhē apanē mēṁ ki tērā ēka yē upakāra cāhatā hūm̐|

Explanation in English
I don't understand how to thank you
Let me erase myself, for you, still it seems less
O God, I am unable to count of your favours
When I think of this, I am unable to live without you,
have found your love for me so i call myself lucky
Even in the full afternoon, I still feel the coolness of the moonlight
You changed my thoughts, so now I can see you
Seeing your cute behavior, I get floored
You have accepted me and now I don't want anything
Take me in yourself,only that I want a favor from you