MY DIVINE LOVE - Sant Sri Alpa Ma Bhajans
MY DIVINE LOVE - Sant Sri Alpa Ma Bhajans
View Hymn (Bhajan)

Hymn No. 4895 | Date: 16-Mar-20212021-03-16पता नहीं पाते हैं अपना गम उसको दौंहराते रहते हैंhttps://www.mydivinelove.org/bhajan/default.aspx?title=pata-nahim-pate-haim-apana-gama-usako-daunharate-rahate-haimपता नहीं पाते हैं अपना गम उसको दौंहराते रहते हैं,

पता नहीं पा सकते हैं अपना, उसकी खुशी में रहना चाहते हैं।

समय बीत रहा है, कभी सुबह कभी शांम, पर उसका हमें पता न रहता हैं,

ना पता चले समय का, कोई बात नहीं तुझमें इस तरह खो जाना चाहता है,

के देख के हमको, तू भी मुस्कुराते रहना चाहता है ।

खोज के कोई चिल्लाए, हम तुझमें इस तरह खो जाना चाहते हैं,

के पूछे कोई अगर हमें पता अपना तो अपनी पहचान तू ढूंढना चाहता है ।

कोई हँसे हम पर, कोई खिल्ली उड़ाए, कोई हमारी मस्ती उड़ाए,

सह सकता है तू सब कुछ, पर तू ये न सह सकता है

पाना है हमें जो वो तो पाऐंगे हम, वो तो ठान के रखना

कोई मस्ती करे, या कोई मजाक करे उससे हमारी रफ्तार कम न हो सके

चाहते हैं हम पूरे दिल से हासिल तुझे करके अलगता तेरी मेरी मिटाना चाहते हैं

खो जाएँ हम इस तरह तुझमें, कुछ इस तरह खो जाए

की दो नहीं एक है हम दुनिया के मुंह से सुनना चाहते है ।

पता नहीं पाते हैं अपना गम उसको दौंहराते रहते हैं
View Original
Increase Font Decrease Font
 
पता नहीं पाते हैं अपना गम उसको दौंहराते रहते हैं,

पता नहीं पा सकते हैं अपना, उसकी खुशी में रहना चाहते हैं।

समय बीत रहा है, कभी सुबह कभी शांम, पर उसका हमें पता न रहता हैं,

ना पता चले समय का, कोई बात नहीं तुझमें इस तरह खो जाना चाहता है,

के देख के हमको, तू भी मुस्कुराते रहना चाहता है ।

खोज के कोई चिल्लाए, हम तुझमें इस तरह खो जाना चाहते हैं,

के पूछे कोई अगर हमें पता अपना तो अपनी पहचान तू ढूंढना चाहता है ।

कोई हँसे हम पर, कोई खिल्ली उड़ाए, कोई हमारी मस्ती उड़ाए,

सह सकता है तू सब कुछ, पर तू ये न सह सकता है

पाना है हमें जो वो तो पाऐंगे हम, वो तो ठान के रखना

कोई मस्ती करे, या कोई मजाक करे उससे हमारी रफ्तार कम न हो सके

चाहते हैं हम पूरे दिल से हासिल तुझे करके अलगता तेरी मेरी मिटाना चाहते हैं

खो जाएँ हम इस तरह तुझमें, कुछ इस तरह खो जाए

की दो नहीं एक है हम दुनिया के मुंह से सुनना चाहते है ।



- संत श्री अल्पा माँ
Lyrics in English


patā nahīṁ pātē haiṁ apanā gama usakō dauṁharātē rahatē haiṁ,

patā nahīṁ pā sakatē haiṁ apanā, usakī khuśī mēṁ rahanā cāhatē haiṁ।

samaya bīta rahā hai, kabhī subaha kabhī śāṁma, para usakā hamēṁ patā na rahatā haiṁ,

nā patā calē samaya kā, kōī bāta nahīṁ tujhamēṁ isa taraha khō jānā cāhatā hai,

kē dēkha kē hamakō, tū bhī muskurātē rahanā cāhatā hai ।

khōja kē kōī cillāē, hama tujhamēṁ isa taraha khō jānā cāhatē haiṁ,

kē pūchē kōī agara hamēṁ patā apanā tō apanī pahacāna tū ḍhūṁḍhanā cāhatā hai ।

kōī ham̐sē hama para, kōī khillī uḍa़āē, kōī hamārī mastī uḍa़āē,

saha sakatā hai tū saba kucha, para tū yē na saha sakatā hai

pānā hai hamēṁ jō vō tō pāaiṁgē hama, vō tō ṭhāna kē rakhanā

kōī mastī karē, yā kōī majāka karē usasē hamārī raphtāra kama na hō sakē

cāhatē haiṁ hama pūrē dila sē hāsila tujhē karakē alagatā tērī mērī miṭānā cāhatē haiṁ

khō jāēm̐ hama isa taraha tujhamēṁ, kucha isa taraha khō jāē

kī dō nahīṁ ēka hai hama duniyā kē muṁha sē sunanā cāhatē hai ।